Leadership: Experienced, Competent, Qualified & Academicians...

अकेलास ठोस (एमोर्फस सॉलिड / Amorphous solid)

Amorphous

अकेलास ठोस (एमोर्फस सॉलिड / Amorphous solid) उन ठोस पदार्थों को कहते हैं जिनके अन्दर पर्याप्त दूरी तक परमाणुओं का कोई सुनिश्चित विन्यास नहीं होता।

अकेलास ठोस गरम करने पर क्रमश नरम हो जाते हैं और फिर धीरे-धीरे उनकी श्यानता (विस्कोसिटी) इतनी कम हो जाती है कि वे चल्य (मोबाइल) बनकर द्रव में परिवर्तित हो जाते हैं। इन पदार्थों का कोई निश्चित गलनांक नहीं होता। ये पदार्थ ठीक-ठीक ठोस की परिभाषा के अंतर्गत नहीं आते। इसलिए इनको अत्यधिक श्यानता वाले अतिशीतलित (सुपरकूल्ड) द्रव भी कहा जाता है। काँच, मोम, वसा, अलकतरा (डामर) आदि अकेलास ठोस में से हैं।

न्यूट्रिनो (Neutrino) यह एक नया कण (Particle) है

न्यूट्रिनो (Neutrino) यह एक नया कण (Particle) है

न्यूट्रिनो (Neutrino) यह एक नया कण (Particle) है जिसका सर्वप्रथम आविष्कार सन्‌ १९३० में पौली ने किया था। इस कण का प्रथम सैद्धांतिक आधार प्रसिद्ध भौतिकीविद फर्मी ने सन्‌ १९३४ में बतलाया।

 

गुण[स्रोत 

न्यूट्रिनो के गुण संक्षेप में निम्नलिखित हैं :

(क) आवेशरहित

(ख) न्यूनतम भार - लागर एवं मौफात ने सन्‌ १९५२ में भार का अनुमान लगाया और बतलाया कि न्यूट्रिनो का भार इलेक्ट्रान के भार के ०.०५ प्रतिशत से भी कम है।

(ग) भ्रमि (स्पिन Spin) १/२ (1/p) है।

(घ) फर्मी-डिराक सांख्यिकी (स्टाटिस्टिक्स statistics) का अनुसरण करता है।

डार्क मैटर क्या है

डार्क मैटर क्या है

खगोलशास्त्र तथा ब्रह्माण्ड विज्ञान में आन्ध्र पदार्थ या डार्क मैटर (dark matter) एक काल्पनिक पदार्थ है। इसकी विशेषता है कि अन्य पदार्थ अपने द्वारा उत्सर्जित विकिरण से पहचाने जा सकते हैं किन्तु आन्ध्र पदार्थ अपने द्वारा उत्सर्जित विकिरण से पहचाने नहीं जा सकते। इनके अस्तित्व (presence) का अनुमान दृष्यमान पदार्थों पर इनके द्वारा आरोपित गुरुत्वीय प्रभावों से किया जाता है।

10 February 2017

अकेलास ठोस (एमोर्फस सॉलिड / Amorphous solid) उन ठोस पदार्थों को कहते हैं जिनके अन्दर पर्याप्त दूरी तक परमाणुओं का कोई सुनिश्चित विन्यास नहीं होता।

2 February 2017

न्यूट्रिनो (Neutrino) यह एक नया कण (Particle) है जिसका सर्वप्रथम आविष्कार सन्‌ १९३० में पौली ने किया था। इस कण का प्रथम सैद्धांतिक आधार प्रसिद्ध भौतिकीविद फर्मी ने सन्‌ १९३४ में बतलाया।

 

गुण[स्रोत 

न्यूट्रिनो के गुण संक्षेप में निम्नलिखित हैं :

(क) आवेशरहित

1 February 2017

खगोलशास्त्र तथा ब्रह्माण्ड विज्ञान में आन्ध्र पदार्थ या डार्क मैटर (dark matter) एक काल्पनिक पदार्थ है। इसकी विशेषता है कि अन्य पदार्थ अपने द्वारा उत्सर्जित विकिरण से पहचाने जा सकते हैं किन्तु आन्ध्र पदार्थ अपने द्वारा उत्सर्जित विकिरण से पहचाने नहीं जा सकते। इनके अस्तित्व (presence) का अनुमान दृष्यमान पदार्थों पर इनके द्वारा आरोपित गुरुत्वीय प्रभावों से किया जाता है।

Test Schedule

Test Batch Date Link
IIT TARGET-5 IIT Target Sunday, 12 February, 2017 view
IIT FOCUS IIT FOCUS Sunday, 12 February, 2017 view
IIT TARGET-1 IIT Target Sunday, 12 February, 2017 view
IIIT TARGET-2 IIT Target Sunday, 12 February, 2017 view
IIT TARGET-3 IIT Target Sunday, 12 February, 2017 view
IIT VISION-1 IIT VISION Sunday, 12 February, 2017 view
PMT TARGET PMT Target Sunday, 12 February, 2017 view
IIT VISION-2 IIT VISION Sunday, 12 February, 2017 view
IIT VISION-3 IIT VISION Sunday, 12 February, 2017 view

Sponsors

Contact us

ABC Classes

2nd Floor Baldev Plaza,Golghar,
Gorakhpur, UP 273001

Contact No.: 91 7317230000, 7317240000

Tel:-  0551- 6450989

Get in touch with us

ABC Education

2nd Floor Baldev Plaza,Golghar,
Gorakhpur, UP 273001
 
Contact No.: 91 7317230000, 7317240000
Education - This is a contributing Drupal Theme
Design by WeebPal.